रविवार, 19 जून 2011

मुझको पापा अच्छे लगते

                           HAPPY FATHER'S DAY          
                                   मुझको  पापा अच्छे  लगते,
                                   मुझको बहुत प्यार वो करते.

                                   मस्ती चाहे जितनी करलूँ,
                                   मुझको  नहीं डांटते  हैं वो.
                                   कितनी भी शैतानी करलूँ,
                                   फिर भी गले लगाते हैं वो.

                                   जो भी माँगूं वह दिलवायें,
                                   मना कभी न करते मुझको.
                                   डरना नहीं कभी जीवन में,
                                   कहते आगे है बढ़ना तुमको.

                                   मुझे तैरना है सिखलाया,
                                   साथ घुड़सवारी भी करते.
                                   मेरे  डैडी  बहुत  बहादुर 
                                   नहीं  किसी से हैं वे डरते.

                                   जब गिटार पर गाना गाते,
                                   उनके पास बैठ कर सुनता.
                                   उनके साथ खेलना मुझको,
                                   सब खेलों से अच्छा लगता.

                     HAPPY FATHER'S DAY 

12 टिप्‍पणियां:

  1. पापा पर सुन्दर कविता ..पढ़ कर अच्छा लगा..

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत ही प्यारी कविता लिखी है सर!

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत ही प्यारी सी लगी यह कविता ,साथ ही दिए चित्र में सोये बच्चे के चेहरे की मुस्कान देखते ही बनती है.

    उत्तर देंहटाएं
  4. :))))) मासूम आकाँक्षाओं को सहारा देती रचना.. धन्यवाद सर.

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपकी बाल रचना बहुत अच्छी लगी।
    --
    पितृ-दिवस की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ।

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत प्यारी रचना|

    पितृ-दिवस की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. सच में पापा बड़े अच्छे लगते हैं..... सुंदर कविता ....

    उत्तर देंहटाएं
  8. मैंने जीवन में बस दो कम किये --
    बच्चों के साथ खेलना - खिलाना
    और पढना-पढ़ाना ||
    इस कोने पर आकर असीम प्रसन्नता हुई ||
    बच्चों के लिए रचना
    एक कठिन कIम|
    बधाई --बहुत-बहुत शुभकामनाएँ
    आप बेहद सफल हैं इसमें--
    (१)
    हर हाथों में एक कलम हो,
    आँखों में हों सपने कल के.||

    बढ़ें संभल के, चले संभल के ||
    मजबूत सहारा हर दुर्बल के ||
    (२)
    शांत करो अब अपना गुस्सा|
    करे निवेदन बच्चा मुझसा ||
    (३)
    सबसे अच्छे नानी-नाना |
    हूँ मै उनका बड़ा दीवाना |
    अच्छी अच्छी बात सिखाते
    बनता मैं बुद्धिमान-सयाना ||
    (४)
    खरगोश |
    पक्के दोस्त |
    प्यारे-प्यारे
    प्यार से पोश ||
    (५)
    नाना की है च्वाइस पापा |
    नानी की है ख्वाइस पापा |
    नाना-नानी जरा बताना-
    किसकी हैं फरमाइस पापा ||

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत-बहुत स्वागत है महोदय |
    "kuchh kahna hai"

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...