रविवार, 16 मार्च 2014

होली है त्यौहार प्यार का

एक बार फिर होली आयी,
खुशियों की सौगात है लाई.

नीले पीले लाल गुलाबी,
चारों ओर रंग बिखरे हैं.
रंग में छुपे हुए चेहरों पे
नए नए भाव निखरे हैं.

भेदभाव हैं सब छुप जाते,
जब गुलाल प्रेम से लगता.
मिट जाते हैं सब शिकवे,
जब है मित्र गले से लगता.

गले लगाओ आज प्रेम से,
सब के साथ मिठाई खाओ.
कोई भी त्यौहार हो बच्चो,
मिलकर सबके साथ मनाओ.

होली है त्यौहार प्यार का,
भेद भाव सभी मिट जाते.
सभी पुराने मनमुटाव हैं,
दहन हैं होली में हो जाते.

आओ घर से बाहर आओ,
ख़ुशी ख़ुशी त्यौहार मनाओ.

**होली की हार्दिक शुभकामनायें**

...कैलाश शर्मा 


20 टिप्‍पणियां:

  1. आमीन ... प्रेम के पर्व पर प्रेम के रंग लगाओ ...
    हार्दिक बधाई ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. सुन्दर बाल गीत ! होली की हार्दिक शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  3. होली का हुल्लड मचा के
    आओ प्रीत रंग जमा दें
    प्रेम रस बौछार उड़ाकर
    हर आँगन रंगों से भिजा दें
    होली की हार्दिक शुभकामनाये

    उत्तर देंहटाएं
  4. झूठ पर सच सदा ही भारी है होली आख्या यही सुनाती है ।
    होली प्रहलाद को जलाती नहीं होलिका को जलाने आती है ॥

    उत्तर देंहटाएं
  5. सुंदर रचना ..!
    सपरिवार होली की हार्दिक शुभकामनाए ....

    RECENT पोस्ट - रंग रंगीली होली आई.

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत ही बढ़िया सर!
    आप को होली की सपरिवार हार्दिक शुभकामनाएँ !


    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सुन्दर...
    होली पर्व कि हार्दिक शुभकामनाएँ .... :-)

    उत्तर देंहटाएं
  8. आपकी बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति
    --
    आपकी इस अभिव्यक्ति की चर्चा कल सोमवार (03-03-2014) को ''होली आई रे आई होली आई रे '' (चर्चा मंच-1554) पर भी होगी!
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर…!

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
    रंगों के पावन पर्व होली की हार्दिक शुभकामनाएँ।

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत सुन्दर
    होली की हार्दिक शुभकामनाऐं ।
    new post: ... कि आज होली है !

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत सुंदर बाल रचना ..... होली की शुभकामनाएं ....!!

    उत्तर देंहटाएं

  12. सहज भावाभिव्यक्ति बाल अनुरूप

    उत्तर देंहटाएं
  13. प्यारी रचना ...सुन्दर भाव ..
    भ्रमर ५

    उत्तर देंहटाएं
  14. आज आपके सारे ब्लॉग देखे , आजकल कम लेखन क्यों , आशा है निराश नहीं करेगे , मंगलकामनाएं भाई जी !!

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...