बुधवार, 22 अक्तूबर 2014

चलो सभी एक दीप जलायें

                                               (Painting by Abhyudai Tiwari)
                                          
                                    **दिवाली की हार्दिक शुभकामनायें**
 
गहन अँधेरा आज छा रहा,
चलो सभी एक दीप जलायें।
कम न रोशनी घर की होगी,
ग़र प्रकाश कुटियों में लायें।
 
हर चहरे पर खुशी नहीं हो,
तो खुशियाँ हैं सदा अधूरी।
एक कोना भी जो अँधियारा,
दीपावली न हो पाये पूरी।
 
भूखे पेट, नग्न तन जो हैं,
सामिल करो उन्हें खुशियों में।
कहीं उदासी रहे न बाक़ी,
कुछ खुशियाँ दे दो कुटियों में।
 
जीवन में सबके हों खुशियाँ,
नहीं अभाव किसी घर में हो।
करो प्रयास सभी मिलजुल के,
सुख, सम्रद्धि हर घर में हो।
 
फुलझड़ियों सी हो मुस्कानें,
खुशियाँ हर जीवन में आयें।
 
...कैलाश शर्मा

17 टिप्‍पणियां:

  1. bachhon ko prerna deti huye sundar rachna ....aapko bhi diwali mubarak

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्‍दर। खूब कही फुलझड़ियों सी मुस्‍कानें।

    उत्तर देंहटाएं
  3. भूखे पेट, नग्न तन जो हैं,
    सामिल करो उन्हें खुशियों में।
    कहीं उदासी रहे न बाक़ी,
    कुछ खुशियाँ दे दो कुटियों में।
    bilkuk sahi sir.....
    happy deepawali in advance.....:-)
    RAM G RAM.....

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर कविता .
    जीवन से भरी हुई .
    स्केच भी मन को छु रहा है .
    आपको और परिवार को मेरी शुभकामनाये
    आपका अपना
    विजय

    उत्तर देंहटाएं
  5. वाह बहुत खूब ।
    दीप पर्व शुभ हो सभी को ।

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुन्दर.... हार्दिक शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  7. आपकी इस प्रस्तुति की चर्चा 23-10-2014 को चर्चा मंच पर चर्चा - 1775 में दिया गया है
    आभार ।

    उत्तर देंहटाएं
  8. ख़ूबसूरत अभिव्यक्ति… दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ...

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपको दीपावली की सपरिवार हार्दिक शुभकामनाएँ !

    कल 24/अक्तूबर/2014 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद !

    उत्तर देंहटाएं
  10. मित्र !आप को सपरिवार दीपावली की शुभकामना ! सुन्दर प्रस्तुतीकरण !

    उत्तर देंहटाएं
  11. सादर प्रणाम ................. आप को सपरिवार दीपावली की बहुत बहुत बधाई और असीम शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  12. सुन्दर भाव ...सुन्दर रचना ...मंगलकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  13. भाव पूर्ण रचना ... दीपावली की मंगल कामनाएं ...

    उत्तर देंहटाएं
  14. हर चहरे पर खुशी नहीं हो,
    तो खुशियाँ हैं सदा अधूरी।
    एक कोना भी जो अँधियारा,
    दीपावली न हो पाये पूरी।सुन्दर भाव ...सुन्दर रचना ...मंगलकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...