सोमवार, 24 दिसंबर 2012

सेंटा क्लॉज़ का इंतज़ार है

जब क्रिसमस त्यौहार है आता, 
खुशियाँ छा जाती हैं मन में.
जगमग करता है घर सारा,
क्रिसमस ट्री सजता आँगन में.

तरह तरह के केक हैं बनते,
जिनको मिलजुल कर खाते.
रौनक रहती है घर बाहर,
मिलकर सब त्यौहार मनाते.

सेंटा क्लॉज़ का इंतज़ार है,
वे सब को उपहार हैं लाते.
मन चाहे उपहार हैं पाकर,
सब बच्चे हैं ख़ुशी मनाते.

अपनी खुशियाँ उनसे भी बाँटें,
जो गरीब असहाय हैं जग में.
जब होंगी हर चेहरे पर खुशियाँ,
तब क्रिसमस आयेगी जग में.

MERRY CHRISTMAS

कैलाश शर्मा 

15 टिप्‍पणियां:

  1. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुंदर व् अनमोल , त्यौहार में अपनी खुशियों में गरीब बच्चों का भी रखे ध्यान !! सादर नमस्कार सर !

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुन्दर बाल गीत"
    नई पोस्ट ;सास भी कभी बहू थी

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत बढ़िया सर!
    क्रिसमस की हार्दिक शुभ कामनाएँ!


    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  5. बेहद खूबसूरत भाव....शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  6. इस बार कोई उत्साह नहीं रहा।

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    --
    आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल शुक्रवार (28-12-2012) के चर्चा मंच-११०७ (आओ नूतन वर्ष मनायें) पर भी होगी!
    सूचनार्थ...!

    उत्तर देंहटाएं
  8. सुन्दर भावना से प्रेरित सहज सरल रचना .

    उत्तर देंहटाएं
  9. सुन्दर भावना से प्रेरित सहज सरल रचना .

    नववर्ष शुभ हो ,खुश हाली लाये चौतरफा आसपास आपके .

    Virendra Sharma ‏@Veerubhai1947
    ram ram bhai मुखपृष्ठ http://veerubhai1947.blogspot.in/ बृहस्पतिवार, 27 दिसम्बर 2012 दिमागी तौर पर ठस रह सकती गूगल पीढ़ी

    उत्तर देंहटाएं
  10. अपनी खुशियाँ उनसे भी बाँटें,
    जो गरीब असहाय हैं जग में.
    जब होंगी हर चेहरे पर खुशियाँ,
    तब क्रिसमस आयेगी जग में.

    बढ़िया सन्देश

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...