बुधवार, 25 जनवरी 2012

२६ जनवरी - गणतंत्र दिवस


ओढ़े त्रय रंगी चुनरी,
छब्बीस जनवरी आयी.
पूरे भारत ने मिलकर
गणतंत्र की खुशी मनायी.

यह धरती माँ हम सबकी
जीवन से भी प्यारी है.
इसकी मिट्टी की खुशबू
सोंधी जग से न्यारी है.

आज़ाद करने इसको
कोटिक बलिदान दिये हैं.
शत-शत प्रणाम हम सबका,
उन पूर्वज जन के लिये है.


इसकी रक्षा को हम सब 
मिलकर तैयार रहेंगे.
तन जाये चाहे पन जाये
बस यह प्रण आज करेंगे.

बालक न कहो हम सब हैं
भारत भूमि के वीर.
अवसर पर चला दिखा देंगे
अभिमन्यु जैसे तीर.


   ! जय हिंद !

प्रभा तिवारी 
भोपाल 

20 टिप्‍पणियां:

  1. बच्चों के लिए बहुत प्यारी कविता|
    गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत प्यारी कविता.. गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ! जयहिन्द..जय भारत..

    उत्तर देंहटाएं
  3. २६ जनवरी की शुभकामनएं .......जय भारत

    उत्तर देंहटाएं
  4. सुंदर बाल रचना सर गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें जय हिन्द ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत ही बढ़िया सर!
    गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएँ।

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  6. सभी को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ.... !!
    धरती माँ हम सबकी ,
    जीवन से भी प्यारी है.... !
    इसकी मिट्टी की खुशबू ,
    सोंधी जग से न्यारी है..... !!
    बच्चों को देशभक्ति सिखाती रचना.... !

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहूत प्यारी एवं बहूत सुंदर कविता है
    गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएँ ...

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहूत सुंदर कविता....हार्दिक शुभकामनायें सभी देशवासियों को....

    उत्तर देंहटाएं
  9. आज़ाद करने इसको
    कोटिक बलिदान दिये हैं.
    शत-शत प्रणाम हम सबका,
    उन पूर्वज जन के लिये है. बहुत खूब लिखा है आपने

    उत्तर देंहटाएं
  10. बसन्त पञ्चमी की हार्दिक शुभकामनाएँ!
    अपने ब्लाग् को जोड़े यहां से EK BLOG SABKA
    आशा है , आपको हमारा प्रयास पसन्द आएगा!

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत सुन्दर एवं प्रेरक रचना!

    उत्तर देंहटाएं
  12. कल 26/01/2014 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद !

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...