गुरुवार, 26 अप्रैल 2012

आओ सब मिल पेड़ लगायें

आओ सब मिल पेड़ लगायें,
  पौधा एक एक अपनायें.

घर में या बगिया में बाहर,
जहां जगह एक पौध लगायें.
ध्यान रखें पानी देने का,
और खाद भी कभी मिलायें.

मम्मा रखती ध्यान तुम्हारा,
ध्यान रखो पौधे का वैसे.
जैसे तुम हंसते हो हर पल,
मुस्काएगा पौधा भी वैसे.

साथ बढ़ोगे तुम दोनों ही,
एक अपनापन जुड़ जायेगा.
बचपन का ये साथ तुम्हारा,
जीवन भर खुशियाँ लायेगा.

एक एक पेड़ मिल कर के, 
जग में हरियाली लायेंगे.
यह धरा हमारी हर्षायेगी,
उसको नव जीवन लायेंगे.

कैलाश शर्मा 

26 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुंदर कविता ...बच्चों में पेड़ - पौधों के महत्त्व को कहती और उनके प्रति रुचि जागृत करती रचना

    जवाब देंहटाएं
  2. मम्मा रखती ध्यान तुम्हारा,
    ध्यान रखो पौधे का वैसे.
    जैसे तुम हंसते हो हर पल,
    मुस्काएगा पौधा भी वैसे.

    खूबसूरत शिक्षा परक बाल गीत .

    जवाब देंहटाएं
  3. खूबसूरत शिक्षा परक बाल गीत .

    महाकाल के हाथ पे गुल होतें हैं ,पेड़

    सुषमा तीनों लोक की कुल होतें हैं ,पेड़

    जवाब देंहटाएं
  4. साथ बढ़ोगे तुम दोनों ही,
    एक अपनापन जुड़ जायेगा.
    बचपन का ये साथ तुम्हारा,
    जीवन भर खुशियाँ लायेगा ....
    पुरे वातावरण को भी शुद्ध कर जाएगा .... !!

    जवाब देंहटाएं
  5. खूबसूरत शिक्षा परक बाल गीत .

    महाकाल के हाथ पे गुल होतें हैं ,पेड़

    सुषमा तीनों लोक की कुल होतें हैं ,पेड़
    http://kabirakhadabazarmein.blogspot.in/
    जानकारी :कोलरा (हैजा )

    जवाब देंहटाएं
  6. बहुत ही अच्छी और शिक्षाप्रद कविता... पेड़ तो मुझे बहुत ही पसंद है... :)

    जवाब देंहटाएं
  7. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति |
    शुक्रवारीय चर्चा मंच पर ||

    सादर

    charchamanch.blogspot.com

    जवाब देंहटाएं
  8. वाह...!
    बहुत सुन्दर प्रस्तुति और उपयोगी सन्देश!

    जवाब देंहटाएं
  9. आज के वक्त के मुताबिक सन्देश देती रचना

    जवाब देंहटाएं
  10. आज के समय की यही माँग है...बहुत सुंदर कविता.

    जवाब देंहटाएं
  11. बहुत सुंदर कविता...... वक्त के मुताबिक सन्देश देती रचना

    जवाब देंहटाएं
  12. एक एक पेड़ मिल कर के,
    जग में हरियाली लायेंगे.
    यह धरा हमारी हर्षायेगी,
    उसको नव जीवन लायेंगे.
    और बच्चों यह भी याद रखो -

    खुद ही अपनी खाद बन जातें हैं पेड़

    कितने उपकारी हैं पेड़ .वीरुभाई सी ४ ,अनुराधा ,कोलाबा , नेवल ऑफिसर्स फेमिली रेज़िदेंशियल एरिया (नोफ्रा ) नेवी नगर, मुंबई-४००-००५

    कृपया यहाँ भी पधारें -
    रक्त तांत्रिक गांधिक आकर्षण है यह ,मामूली नशा नहीं

    http://kabirakhadabazarmein.blogspot.in/
    आरोग्य की खिड़की

    आरोग्य की खिड़की

    http://kabirakhadabazarmein.blogspot.in/2012/04/blog-post_992.html

    जवाब देंहटाएं
  13. कल 29/04/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    हलचल - एक निवेदन +आज के लिंक्स

    जवाब देंहटाएं
  14. bahut sundar sandesh deti sarthak rachna prastuti hetu aabhar!

    जवाब देंहटाएं
  15. घर में या बगिया में बाहर,
    जहां जगह एक पौध लगायें.
    ध्यान रखें पानी देने का,.
    और खाद भी कभी मिलायें.
    पौधे हमारे पर्यावरण के पहरुवे हैं ,वर्षा का आवाहन करतें हैं ,प्रदूषकों का पान करते हैं शिव की तरह .ऑक्सीजन का दान करते हैं कर्ण की तरह . पंछी को छायाँ फल फूल देते हैं निश्शुल्क .कितने हैं उपकारी पेड़ ,इसीलिए हैं प्यारे पेड़ .शोभा सब की न्यारी पेड़ .
    आपकी द्रुत टिपण्णी के लिए शुक्रिया .कृपया यहाँ भी पधारें -शनिवार, 28 अप्रैल 2012

    ईश्वर खो गया है...!

    http://veerubhai1947.blogspot.in/
    आरोग्य की खिड़की
    http://kabirakhadabazarmein.blogspot.in/2012/04/blog-post_992.html

    महिलाओं में यौनानद शिखर की और ले जाने वाला G-spot मिला
    http://kabirakhadabazarmein.blogspot.in/

    जवाब देंहटाएं
  16. हरा भरा भारत बनाने के लिए पेड़ लगाना कितना आवश्यक है बताती कविता बहुत सार्थक |
    आशा

    जवाब देंहटाएं
  17. बहुत सूंदर, सार्थक और पेड़ लगाने को प्रेरित करती कविता! बधाई !

    जवाब देंहटाएं
  18. बहुत ही सुन्दर शिक्षाप्रद बालगीत.....

    जवाब देंहटाएं
  19. sacchi seekh deti prastuti....agar bachhon ko u protsahit kiya jaye to unka jaroor us paid se apna ek sambandh jud jayega.

    seekh deti pyari rachna.

    जवाब देंहटाएं
  20. used cycles london uk
    Excellent Working Dear Friend Nice Information Share all over the world.God Bless You.
    Bicycle shops in north London
    cycle shops north in london

    जवाब देंहटाएं
  21. के बारे में महान पोस्ट "आओ सब मिल पेड़ लगायें"

    जवाब देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...