गुरुवार, 5 सितंबर 2013

शिक्षक

                **शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनायें**

दे कर के सम्मान गुरु को,      
जीवन में है सफल बनोगे.
गुरु में श्रद्धा के द्वारा ही    
श्रेष्ठ ज्ञान अधिकारी होगे.

बिना गुरु के ज्ञान कहाँ है,
बिना गुरु भगवान कहाँ है?
चढ़ने सीढ़ी सफलता की
गुरु जैसी सोपान कहाँ है?

जो भी पाठ पढ़ाते शिक्षक,
जीवन राह सुगम हैं करते.
उनकी शिक्षा हैं जो मानते,
वे हैं जीवन में आगे बढ़ते.

शिक्षक का सम्मान जहाँ न,
वह समाज अवनति को जाता.    
बीज सु-संस्कारों के बो कर,   
वह शिक्षक पूजनीय बन जाता. 

....कैलाश शर्मा      

17 टिप्‍पणियां:

  1. बिना गुरु के ज्ञान कहाँ है,
    बिना गुरु भगवान कहाँ है?..बहुत सुन्दर रचना..शिक्षक दिवस की बधाई..कैलाश जी..

    उत्तर देंहटाएं
  2. sundar sarthak rachna ...siksha ke girte star .. or siksho ke prati adar me ati kami in sabko bakhub ubhara apne :)subhkamnaye
    शिक्षक का सम्मान जहाँ न,
    वह समाज अवनति को जाता.
    बीज सु-संस्कारों के बो कर,
    वह शिक्षक पूजनीय बन जाता.

    उत्तर देंहटाएं
  3. शिक्षक का सम्मान जहाँ न,
    वह समाज अवनति को जाता.
    बीज सु-संस्कारों के बो कर,
    वह शिक्षक पूजनीय बन जाता.

    बहुत सुंदर पंक्तियाँ .... गुरु को अपनी गरिमा बनाए रखनी चाहिए ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत ही सुंदर एवं सार्थक रचना...

    उत्तर देंहटाएं
  5. शिक्षक का सम्मान जहाँ न,
    वह समाज अवनति को जाता.
    बीज सु-संस्कारों के बो कर,
    वह शिक्षक पूजनीय बन जाता.......बहुत सुन्दर

    उत्तर देंहटाएं
  6. कविता के माध्‍यम से कही गई बात विचारणीय है।

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सुंदर सीख
    सार्थक अभिव्यक्ति
    शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  8. सच्चे गुरू को परिभाषित करती बहुत ही सुंदर प्रस्तुति ! काश सभी गुरू इस कसौटी पर खरे उतरें ! शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत सुन्दर रचना...
    शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनायें...
    :-)

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत सुन्दर लिखा भैया आपने ...नमस्ते

    भूल कमियाँ
    शिक्षक दिवस को
    मना ख़ुशी से| सविता

    गुरु-शिष्य का
    कलुषित नहीं हो
    रिश्ता महान| सविता.....

    उत्तर देंहटाएं
  11. aapke blog par aana sukhad anubhav hai. aapki rachnaon main bhi bachchon si masoomiyat dikhti hai. aise hi rahiye hamesha.

    उत्तर देंहटाएं
  12. चढ़ने सीढ़ी सफलता की
    गुरु जैसी सोपान कहाँ है?

    सार्थक सन्देश देती रचना

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत सुन्दर सौद्देश्य बाल गीत।

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...